आपका स्वागत "एक्टिवे लाइफ" परिवार में..........

आपका एक्टिवे लाइफ में स्वागत है

* आपका एक्टिवे लाइफ में स्वागत है * "वन्दे मातरम्" आपके सुझाव और संदेश मुझे प्रोत्साहित करते है! आप अपना सुझाव या टिप्पणि दे!* मित्रो...गौ माता की करूँ पुकार सुनिए और कम से कम 20 लोगो तक यह करूँ पुकार पहुँचाईए* गौ ह्त्या के चंद कारण और हमारे जीवन में भूमिका....

रविवार, अप्रैल 8

एक सन्देश .....सुगना फाऊंडेशन

मित्रो,
 काफी दिनों से कुछ नया नहीं लिख पा रहा हूँ, पर ऐसा नहीं की मैं आपको निराश करूँगा. बहुत जल्दी कुछ  नया लेकर आहुगा 


शेयर कीजिये
शेयर कीजिये
आओ, हम सब मिलकर गोमाता की रक्षा करने का संकल्प ले...
शेयर कीजिये


जमीन से लेकर आसमां तक निकलता गया आदमी,
जितना चढ़ा उतना ही फिसलता गया आदमी
कायनात छोटी पड़ गयी ..... ..के सामने
जितना मिला उतना ही निगलता गया आदमी


आप से अनुरोध है

  मै आप सभी ज्ञानी मित्रों से अपनी हर ख़ुशी जाहिर हुए मुझे बहुत ख़ुशी हो रही है .... 

प्रभु कृपा से आपका दिन मंगलमय हो ...
खुशियों भरा और सार्थक हो ...
वन्देमातरम 

जय हिंद  जय भारत 

सवाई सिंह राजपुरोहित (आगरा)
{सदस्य}
सुगना फाऊंडेशन मेघलासिया जोधपुर
www.rajpurohitsamaj-s.blogspot.in

32 टिप्‍पणियां:

  1. बिलकुल सही ।

    नव जागरण जरुरी है -

    आभार ।।

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. ऐसे ही अपना स्नेह बनाये रखें...

      हटाएं
  2. अच्छी तरह से समझने की आवश्यकता है इन बातों को ...!

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. आपका बहुत बहुत शुक्रिया जो आप यहाँ आए और अपनी राय दी,हम आपसे आशा करते है की आप आगे भी अपनी राय से हमे अवगत कराते रहेंगे!

      हटाएं
  3. बिलकुल सही ........आपकी बात से सहमत सवाई सिंह जी

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. आपका बहुत बहुत शुक्रिया जो आप यहाँ आए और अपनी राय दी,हम आपसे आशा करते है की आप आगे भी अपनी राय से हमे अवगत कराते रहेंगे!

      हटाएं
  4. सही कहा. सवाई सिंह जी..... आपकी बात से सहमत हूँ...

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. आपका बहुत बहुत शुक्रिया जो आप यहाँ आए और अपनी राय दी,हम आपसे आशा करते है की आप आगे भी अपनी राय से हमे अवगत कराते रहेंगे!

      हटाएं
  5. इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.

    उत्तर देंहटाएं
  6. सवाई भाई आप बहुत सार्थक और प्रशंसनीय कार्य कर रहे हैं।
    शुभकामनाएं।

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. आपका बहुत बहुत शुक्रिया जो आप यहाँ आए और अपनी राय दी,हम आपसे आशा करते है की आप आगे भी अपनी राय से हमे अवगत कराते रहेंगे!

      हटाएं
  7. बहुत ही सार्थक सन्देश एवं अपील है। उम्मीद है लोग इस पर गौर करेंगे।

    उत्तर देंहटाएं
  8. आपको भी बैसाखी के पर्व पर हार्दिक शुभकामनाएं.....

    उत्तर देंहटाएं
  9. उत्तर
    1. आपका बहुत बहुत शुक्रिया जो आप यहाँ आए और अपनी राय दी,हम आपसे आशा करते है की आप आगे भी अपनी राय से हमे अवगत कराते रहेंगे!

      हटाएं
  10. गौ ह्त्या के समर्थक हम भी नहीं है भैया पर उसके लिए तलवार का प्रतीक मायावती के नारों जैसा ही है सांप्रदायिक सौमनस्य के लिए भला नहीं है .आपने खुद ही तो कहा है शारीरिक कष्ट से आगे है किसी का दिल दुखाना भले गौ हमारी संस्कृति कृषि कर्म से जुडा एक प्रतीक है .भाषा की भंगिमा अपना सकारात्मक असर छोडती है .

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. आदरणीय श्री वीरुभई जी,
      सादर नमस्कार ! सही कहते हैं आप !"तलवार का प्रतीक मायावती के नारों जैसा ही है सांप्रदायिक सौमनस्य के लिए भला नहीं है" और आगे इस बात का ध्यान रकुगा आपका आभार इस पोस्ट पर अपनी राय दी हम आपसे आशा करते है की आप आगे भी अपनी राय से हमे अवगत कराते रहेंगे!

      हटाएं
  11. आपकी की बात से पूरी तरह से सहमत हूँ.

    उत्तर देंहटाएं
  12. शानदार प्रस्तुती!
    मैं आपके ब्लॉग पे देरी से आने की वजह से माफ़ी चाहूँगा !

    उत्तर देंहटाएं
  13. बहुत ही सार्थक सन्देश

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. आपका बहुत बहुत शुक्रिया

      हटाएं
    2. आपका बहुत बहुत शुक्रिया जो आप यहाँ आए और अपनी राय दी,

      हटाएं
  14. बहुत बड़ा, महत्वपूर्ण और सार्थक कार्य कर रहे!

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. आपका बहुत बहुत शुक्रिया जो आप यहाँ आए और अपनी राय दी,

      हटाएं
  15. इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.

    उत्तर देंहटाएं
  16. बहुत सुंदर विचार।...बहुत बढ़िया प्रस्तुति

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. आपका बहुत बहुत शुक्रिया जो आप यहाँ आए और अपनी राय दी,हम आपसे आशा करते है की आप आगे भी अपनी राय से हमे अवगत कराते रहेंगे!

      हटाएं
  17. सुन्दर प्रस्तुति..

    उत्तर देंहटाएं
  18. शेयर करने के लिये बहुत बहुत आभार,

    उत्तर देंहटाएं

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

लिखिए अपनी भाषा में

सवाई सिंह को ब्लॉग श्री का खिताब मिला साहित्य शारदा मंच (उतराखंड से )